क्या आप लोग जानते हैं की आईपी एड्रेस क्या होता है अपना computer का आईपी ऐड्रेस कैसे पता किया जा सकता है तथा आईपी एड्रेस से जुड़े सभी प्रकार के प्रश्न आसान शब्दों में आपको इस लेख में मिलेंगे उम्मीद करते हैं कि आप इस लेख के साथ बने रहेंगे इससे जुड़ी सभी प्रश्नों का उत्तर तथा अधिक से अधिक जानकारी आपको इस पोस्ट में मिलेंगे


आज के समय में इंटरनेट का प्रयोग इतना ज्यादा बढ़ गया है कि इंटरनेट पर लोगों को उसकी लोकेशन के बारे में पता करना ip address से मुमकिन होता है इसके माध्यम से हम लोग यह जान पाते हैं कि कोई भी कंप्यूटर मोबाइल या इंटरनेट कनेक्टेड डिवाइस का सही लोकेशन कहां है ,


इस डिवाइस को किस जगह से एक्सेस किया जा रहा है इसके साथ ही जब आप अपने मोबाइल में इंटरनेट को एक्सेस करते हैं तो इसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति आपका एग्जैक्ट लोकेशन पता लगा सकता है आईपी ऐड्रेस नंबर के रूप में अनुपातिक होता है जो प्रत्येक इंटरनेट कनेक्टेड डिवाइस कहां है उसका पता लगाता है,


 इसके साथ ही सभी डिवाइस का आईपी एड्रेस अलग-अलग होता है एक यूजर्स या इंटरनेट कनेक्शन डिवाइस के लिए एक आईपी ऐड्रेस दिया जाता है हालांकि इसे बाद में आप चेंज भी कर सकते हैं आईपी एड्रेस को इंटरनेट का आईडेंटिटी प्रूफ भी कहा जाता है ,


इसीलिए आईपी एड्रेस के बारे में आपको अधिक से अधिक जानकारी होना अति आवश्यक है जितने भी इंटरनेट यूजर हैं उन सभी के लिए इसको जानना बहुत जरूरी है क्योंकि आपकी डिवाइस को कोई दूसरा भी इसके माध्यम से कोई दूसरा भी आपके लोकेशन के बारे में पता कर सकता है ,


लेकिन यदि आप इसके बारे में अधिक से अधिक जानकारी पहले से रखते हैं तो आपको इसे छुपाने की नहीं तरीका के बारे में अवश्य जानते हो आप अपने सिक्योरिटी परस के लिए इसे hide भी कर सकते हैं,  दरअसल यदि आप गूगल में जाकर माय आईपी ऐड्रेस सर्च करेंगे,


 तो आप हो पता चल जाएगा कि आपका आईपी एड्रेस क्या है फिर उसे आप किसी दूसरों को भी भेज कर अपने लोकेशन के बारे में जानकारी दे सकते हैं , यह सभी इंटरनेट यूजर्स के लिए बहुत जरूरी होता है इसीलिए आज इस पोस्ट में आईपी एड्रेस के बारे में अधिक से अधिक जानकारी प्राप्त करेंगे तो चलिए शुरू करते हैं।




<


IP address क्या है, what is IP address in Hindi 


आईपी ऐड्रेस एक सभी इंटरनेट कनेक्शन डिवाइस का आईडेंटिफिकेशन नंबर होता है तथा दूसरे डिवाइस के साथ कम्युनिकेट करने के लिए ip based नेटवर्क इंटरनेट की आवश्यकता होती है , आईपी एड्रेस का सामान्य नाम आईपी होता है यह अंको का अनुपातिक के रूप में सभी डिवाइस का अलग-अलग नंबर होता है,


 जो यह इंटरनेट से कनेक्टेड होता है आईपी एड्रेस के द्वारा रूटर को पता चलता है कि उसके एकत्रित डांटा को कहां भेजना है तथा रूटर हमारे सर्च किए गए रिजल्ट आईपी एड्रेस पर भेजने का काम करता है, 


आसान शब्दों में कहें तो आईपी ऐड्रेस से किसी भी इंटरनेट कनेक्टेड डिवाइस का लोकेशन पता करने के काम में आता है तथा हम कहीं से भी उस डिवाइस को एक्सेस कर सकते हैं और आईडेंटिफिकेशन नंबर को प्राप्त कर उसे track भी कर सकते हैं , 


आईपी एड्रेस के कारण है कोई भी व्यक्ति को कहीं से भी internet के सहायता से access कर सकता है इसके साथ ही कोई भी computer को दूसरे कंप्यूटर से hack भी कर सकते हैं, यह सभी कार्य आईपी एड्रेस के द्वारा ही आसानी से हो पाता है यदि कोई क्रिमिनल है तो उसे पकड़ने में बी आई पी एड्रेस का महत्वपूर्ण योगदान है ।  तथा इससे कई प्रकार के कठिन से कठिन कार्य कुछ मिनट में ही संभव हो रहा है।



 Ip address का full form क्या होता है?

ip address full form : - Internet Protocol Address 



IP Address कितने प्रकार के होते है ? Types of ip address in hindi 


आईपी ऐड्रेस के बारे में तथा यह कितने प्रकार के होते हैं उन सभी के बारे में चलिए जानते हैं आईपी एड्रेस बहुत प्रकार के होते हैं लेकिन सबसे प्रमुख ip address  के बारे में यहां पर चर्चा करेंगे जो आपके जीवन में कार्य कभी ना कभी हो सके, 


आपके computer या इंटरनेट connected device को locate करने के लिए ip address का इस्तेमाल किया जाता है locatin बहुत प्रकार से identify किया जाता है तो चलिए इनके बारे मे जानकारी प्राप्त करते हैं ।


Private ip address 

Public ip address 

Static ip address 

Dynamic ip address 



Private ip address : 


Private IP address को एक नेटवर्क के अंदर अनेक डिवाइसों को जोड़ा जाता है जिसमें आप रूटर के द्वारा प्राइवेट address को set up कर सकते हैं जैसे computer Wi-Fi camera wireless printer laptop mobile phone इत्यादि इन सभी को एक network के द्वारा जोड़ा जाता है , जो पूरी तरह से secure माना जाता है इसे सिर्फ अपने personal यूज के लिए इसका प्रयोग किया जाता हैं । 


Public ip address : 


जब आप अपने डिवाइस को नेटवर्क अपने मोबाइल से connect ना करें किसी दूसरे नेटवर्क से अपने मोबाइल में इंटरनेट को एक्सेस करते हैं या पब्लिक प्लेस पर इस आईपी एड्रेस को खोजना बहुत ही मुश्किल नहीं होता है,


 इस प्रकार के कनेक्शन के लिए पब्लिक आईपी ऐड्रेस का इस्तेमाल किया जाता है इसे इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के द्वारा भी सेट किया जाता है अपने रूटर के द्वारा पब्लिक आईपी एड्रेस को ढूंढना बहुत ही आसान होता है आप कोई भी वेबसाइट से आसानी के साथ वेब ब्राउज़र की मदद से इस आईपी एड्रेस को खोज सकते हैं।


Public IP address or private ip address या तो स्टैटिक हो सकता है या डायनेमिक आईपी एड्रेस हो सकता है। 



Static IP address : 


Static IP address  अपने आप नहीं बदलता है इसे manually चेंज समय-समय पर किया जाता है, जिस डिवाइस में DHCP को on नहीं है उसमे static IP Address support' नहीं करता है ।



Dynamic ip address :


इस ip address को DHCP server से automatically configure किया जाता है डायनेमिक आईपी ऐड्रेस टेंपरेरी आईपी ऐड्रेस होता है जिसमें एक ही नेटवर्क से कई प्रकार के डिवाइस के लिए उपयोग किया जाता है इस प्रकार सभी डिवाइस को कनेक्ट करने के लिए उसे अच्छी तरह से कॉन्फ़िगर सेट किया जाता है। 



अपने डिवाइस का आईपी ऐड्रेस कैसे निकाले?


अपने डिवाइस का आईपी एड्रेस निकालना बहुत ही आसान होता है आप पब्लिक और प्राइवेट आईपी ऐड्रेस को अलग अलग तरीका से इसे आसानी से जान सकते हैं आपके पास कोई भी इंटरनेट कनेक्टेड डिवाइस होना चाहिए जैसे कि स्मार्टफोन टैबलेट कंप्यूटर लैपटॉप डेक्सटॉप इन सभी का आईपी एड्रेस पता करना बहुत ही आसान है,


 सबसे पहले आप अपने गूगल के सर्च बारे बारे में जाइए और उस गूगल में माय आईपी ऐड्रेस लिखकर सर्च कीजिए आपको नीचे कुछ अंक और अनुपात के साथ उसके साथ एबीसीडी भी अनुपातिक रूप में मिलेंगे और वहां पर लिखा होगा,your public address , इसके ऊपर आपका आईपी ऐड्रेस होगा यह आपका पब्लिक आईपी ऐड्रेस है ,


आप चाहे तो बहुत से ऐसे वेबसाइट हैं जिसे विजिट करके पब्लिक आईपी एड्रेस का पता लगा सकते हैं जैसे whatsMyip.org इस वेबसाइट पर जाकर आप अपना आईपी ऐड्रेस प्राप्त कर सकते हो इसी तरह से बहुत सारे ऐसे वेबसाइट हैं जिसमें आप विजिट करके आईपीएस तक पहुंच सकते हैं।  जनरल पब्लिक आईपी ऐड्रेस को किसी भी सर्च इंजन के द्वारा गूगल में जाकर खोज सकते हैं। 



Private IP address को अपने डिवाइस में कैसे खोजे ?


Private IP address को अपने डिवाइस में खोजना थोड़ा मुश्किल होता है लेकिन कठिन नहीं है इसे आप कुछ नीचे दिए गए स्टेप को फॉलो करें आसानी से खोज सकते हैं।


Windows : - विंडो में प्राइवेट आईपी ऐड्रेस को खोजने के लिए कमांड प्रॉन्प्ट का प्रयोग कर सकते हैं, आप अपनी कंप्यूटर में विंडो प्लस आर की बटन दबाएं आपके सामने एक बॉक्स ओपन होगा  बॉक्स में cmd लिखकर ok पर क्लिक करें , 


फिर आपके सामने कमांड ओपन हो जाएगा उस ओपन बॉक्स में ipconfig लिखकर enter कीजिए, आप देखेंगे कि आपके सामने आपका प्राइवेट आईपी ऐड्रेस दिखाई देगा इस प्रकार आप अपने लैपटॉप या कंप्यूटर का आईपी एड्रेस पता कर सकते हैं।


Androide device : - एंड्रॉयड device में आईपी एड्रेस को देखना बहुत ही आसान है इसमें आईपी एड्रेस को जानने के लिए setting मैं जाइए सेटिंग में जाने के बाद वायरलेस कंट्रोल या वाईफाई सेटिंग का स्टेप फॉलो कीजिए आप देख पाएंगे कि आपको network के ऊपर सबसे आपका private आईपी ऐड्रेस दिखाई देगा इस प्रकार आप अपने मोबाइल का भी आईपी एड्रेस निकाल सकते हैं।



 Ip address के versions के बारे में बताए ?


IP address का भजन दो होता है इसे सम्मानित दो ही भर्जन में डिवाइड किया गया है ।


1 ipv4 ( internet protocol version 4)

2 ipv6 ( internet protocol version 6 )

IP Address क्या है अपने computer का ip address कैसे पता करे ?



1 ipv4 

आईपी एड्रेस का वर्जन 4 पुराना वर्जन है इसे अपडेट करके वर्जन सिक्स का निर्माण किया गया है , इसका निर्माण 1983 ईस्वी में किया गया था जिसमें 32 बिट न्यूमेरिकल नंबर में अनुपात के साथ फॉर्मेट में होता है अधिकतर ipv4 बाजरी हेक्साडेसिमल इत्यादि होता है


 यह वर्तमान समय में सभी डिवाइस में आसानी से कनेक्ट हो जाता है तथा यह सीमित आईपी ऐड्रेस है वही इसकी संख्या कि यदि बात की जाए तो यह 0 से 255 अंक तक हो सकता है यह एक लिमिट आईपी एड्रेस है जिसमें लगभग 5 अरब आईपी ऐड्रेस प्रदान कर सकता है।



2 ipv6 


यह IP address internet के बढ़ते उपयोग को देखते हुए इसका निर्माण किया गया है , यह आईपी ऐड्रेस लगभग पृथ्वी के प्रत्येक लाखों-करोड़ों डिवाइस को इंटरनेट के साथ कनेक्ट करने में सक्षम है इस आईपी एड्रेस का कोई लिमिट नहीं है


 तथा यह सभी यूजर्स को प्राइवेसी का भी ख्याल रखता है इसे किसी भी प्रकार की नेटवर्क ऐड्रेस ट्रांसलेशन की भी जरूरत नहीं पड़ती है ,


यह ऑटोमेटिक कॉन्फ़िगरेशन के आधार पर कार्य करता है इस आईपी एड्रेस में कुल 8 ग्रुप होते हैं जिसमें प्रत्येक में 4 हेक्साडेसिमल डिजिट मौजूद होते हैं जो प्रत्येक ग्रुप को एक अनुपात में के द्वारा अलग करता है इसे इस प्रकार से डिजाइन किया गया है ,


कि यह कभी खत्म ही नहीं हो सकता है इसमें अधिक से अधिक संख्या में डिवाइस को जोड़ने की क्षमता है तथा इसका संस्करण 128 बिट का बनाया गया है। 



आईपी एड्रेस का हमारे दैनिक जीवन में क्या इस्तेमाल होता है ? 


आईपी एड्रेस का हमारे दैनिक जीवन पर बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान है जैसे कि हम लोग इंटरनेट के द्वारा बड़े ही आसानी से अपने कठिन से कठिन कार्य को आसान बना देते हैं ठीक उसी प्रकार इंटरनेट को चलने के लिए आईपी एड्रेस की जरूरत पड़ती है,


 यह इंटरनेट का अभिन्न अंग माना जाता है जैसे कि कोई भी ऑफिस या घर का एक अपना पहचान होता है यह ऑफिस या घर किस जगह पर स्थित है उसी तरह से इंटरनेट से कनेक्टेड डिवाइस किस जगह से काम कर रहा है और वह दुनिया के किस कोने में बैठकर यह सब कर रहा है उसका सटीक लोकेशन आईपी ऐड्रेस से पता चलता है,


 जिससे हम सभी के इंटरनेट कनेक्टेड डिवाइस का आसानी से पता लगा सकते हैं कोई भी वेबसाइट को विजिट करने के लिए आईपी एड्रेस का होना बहुत ही आवश्यक होता है इसके साथ साथ उसका लोकल नेटवर्क और डीएनएस सर्वर सभी के साथ मिलकर इंटरनेट का इस्तेमाल आसानी से कहीं से भी कर सकते हैं।



 गूगल मेरा ip address क्या है ( what is my ip address ) 


यदि आप अपना आईपी एड्रेस गूगल से पूछना चाहते हैं या कोई भी सर्च इंजन से पूछना चाहते हैं तो आप बड़े ही आसानी से अपने डिवाइस का आईपी एड्रेस पता कर सकते हैं सबसे पहले आपको गूगल में जाकर सर्च करना है,


 व्हाट इज माय आईपी ऐड्रेस सर्च करने के बाद सबसे फर्स्ट नंबर आपको अपना ip address दिखाई देगा इसे आप किसी दूसरे व्यक्ति के साथ अगर शेयर करना चाहते हैं तो आप बड़े ही आसानी से इसे शेयर भी कर सकते हैं और किसी व्यक्ति के आईपी ऐड्रेस के बारे में पता भी लगा सकते हैं, 



आईपी ऐड्रेस में कितने अंकों की संख्या होती है?


आईपी एड्रेस में यदि संख्या की बात की जाए तो इसमें 0 से लेकर 255 नंबर की संख्या मौजूद हो सकती है,  उसमें कुल मिलाकर चार संख्या मौजूद रहता है जैसे 122.102.1.55 होता है वही प्राइवेट आईपी ऐड्रेस की बात की जाए तो वह इससे अधिक संख्या में मौजूद होता है इसमें नंबर और लेटर अंक सभी प्रकार के संख्या मजबूत हता है।



गूगल मेरा मोबाइल का आईपी ऐड्रेस क्या है?


यदि आप अपने मोबाइल का आईपी ऐड्रेस खोजना चाहते हैं तो इसे बड़े ही आसानी से आपको सकते हैं सबसे पहले आप अपने मोबाइल के सेटिंग में जाकर अबाउट डिवाइस में जाकर स्टेटस में आप अपने मोबाइल का आईपी ऐड्रेस को देख सकते हैं या फिर सेटिंग के सर्च बार में IP address लिखकर सर्च कीजिए और आपके सामने ip address show होगा ।



सिम कार्ड बदलने से क्या आईपी एड्रेस भी बदल सकता है।


बिल्कुल हां यह सही बात है कि यदि आप अपने मोबाइल का सिम कार्ड बदलते हैं तो आपके मोबाइल का आईपी एड्रेस भी बदल जाएगा यह इसलिए होता है की आपके अलग-अलग सिम के नेटवर्क की कैपेसिटी अलग-अलग होती है वह अलग-अलग नेटवर्क के साथ जुड़ता है , ऐसा होता है । 



कौन सा protocol यूजर्स को ip address प्रदान करता है ।


यदि आईपी एड्रेस प्रदान करने की बात की जाए तो यह DHCP ( Dynamic host configuration protocol ) के द्वारा होता है को यूजर्स को internet से ip address provide करता है।



निष्कर्ष 


हमें उम्मीद है कि मेरे द्वारा लिखा गया यह पोस्ट आईपी एड्रेस क्या है अपना आईपी ऐड्रेस कैसे निकाले आपको बहुत पसंद आया होगा मेरे इस ब्लॉग का केवल एक मकसद है की यूजर्स को अधिक से अधिक ज्ञान प्रोवाइड करना जिससे वह किसी दूसरे वेबसाइट पर विजिट नहीं करें ,


उसे सभी प्रकार की जानकारी इसी blog पर मिल जाए जिससे उसके समय में भी काफी बचत होगी और अधिक से अधिक सीखने को भी मिलेगा ,


मुझे आशा है कि आईपी एड्रेस से संबंधित है सभी प्रकार के प्रश्न के उत्तर आपको आसान शब्दों में मिल गया होगा किसी भी प्रकार के सहायता के लिए आप हमें कमेंट कर सकते हैं यह हमारे कांटेक्ट से हमसे किसी भी प्रकार का प्रश्न पूछ सकते हैं ।


also read :-




Post a Comment